मंगलवार, 29 जनवरी 2019

7 Horse Painting Vastu Tips | Horse Painting In Bedroom

Horse painting in bedroom

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में घोड़े की पेंटिंग क्यों और कहाँ लगानी चाहिए ?

हमारे ज्योतिष शास्त्र में वास्तु को सबसे ज्यादा माना गया है इसलिए लोग घर बनाते समय बाथरूम, रसोई, बेडरूम, पूजा घर आदि सभी को वास्तु के अनुसार बनाते है ताकि भविष्य में किसी तरह की परेशानी ना आये। घर में किन जानवरों को पालना चाहिए, बुरी शक्तियों को घर से कैसे निकाले इन सब में वास्तु का बड़ा योगदान होता है।
घर में कौन-कौन सी चीजें होनी चाहिए, कौनसी चीजें दान करनी चाहिए और किन चीजों से दुरी बनानी चाहिए यह सब भी वास्तु में बताया गया होता है। ऐसे में वास्तु के अनुसार घर में घोड़े की पेंटिंग को लगाना भी शुभ माना जाता है। इसके पीछे क्या कारण है, घोड़े की पेंटिंग को कहाँ लगाना चाहिए और इसके क्या फायदे है यह हम आज की इस पोस्ट में जानेंगे।



वास्तु के अनुसार घोड़े की पेंटिंग को किस दिशा में लगाना चाहिए



वास्तु के अनुसार दोड़ते हुए घोड़े की फोटो दक्षिण दिशा में लगानी चाहिए ताकि घोड़े का मुहं घर या ऑफिस के अंदर आते हुए दिखे। अगर आप कर्ज से परेशान है तो घर या ऑफिस में पश्चिम दिशा में आर्टिफिशियल घोड़े का जोड़ा रखे। एक बात हमेशा याद रखें जिस तस्वीर को आप घर में या ऑफिस में लगा रहे है उसमे घोड़े एक ही दिशा में दोड़ते हुए होने चाहिए। आप संत घोड़े की तस्वीर को दक्षिण दिशा में लगा सकते है।

घोड़े की पेंटिंग लगाने के फायदे
  • वास्तु के अनुसार घोड़े को प्रगति का प्रतीक माना जाता है और जो लोग घोड़े की फोटो को लगाकर उसे रोजाना देखते है उनकी कार्यशैली में वृद्दि होती है।
  • सफ़ेद घोड़ा ऊर्जा और सकारात्मकता का प्रतीक होता है, इसलिए घर या ऑफिस में सफ़ेद घोड़े की तस्वीर लगायें।
  • कंप्यूटर के वालपेपर पर भी दोड़ते हुए घोड़े की तस्वीर लगायें, इसका असर आपकी कार्यप्रणाली पर पड़ेगा और आप उर्जावान महसूस करेंगे।
  • अगर आप कर्ज से परेशान है तो घर या ऑफिस में एक आर्टिफिशियल घोड़ा उत्तर-पश्चिम दिशा में रखें जो बाजार में आसानी से मिल जायेगा। इससे आपको जल्दी ही कर्ज से निजात मिलेगा और व्यापार में बढ़ोतरी होगी।

इस तरह के घोड़े की तस्वीरों को घर या ऑफिस में लगायें


  • दोड़ते हुए घोड़े की तस्वीर
दोड़ते हुए घोड़े की तस्वीर घर या ऑफिस में लगाने से हमारी कार्यप्रणाली में वृद्दि होती है और हम उर्जावान तथा स्फूर्ति से भरे महसूस करते है।
  • सांत घोड़ो की तस्वीर
घर या ऑफिस में सांत घोड़ो की तस्वीर लगाये, क्योंकि इन्द्र्धनुध के रंग सांत होते है, शादी में फेरे सांत होते है और वचन भी सांत होते है। हमारी जिंदगी में 7 अंक का बड़ा महत्व है इसलिए 7 घोड़ो वाली तस्वीर लगायें। याद रखें तस्वीर में 7 से ज्यादा और कम घोड़े नहीं होने चाहिए। इस तस्वीर को लगाने से आपकी जिंदगी में उतार-चढाव नहीं आएँग और घर में माँ लक्ष्मी का वास होगा।


क्यों लगानी चाहिए घोड़ों की तस्वीर

  • कार्य में प्रगति के लिए
  • जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए
  • बुरी शक्तियों के नाश के लिए
  • कर्ज मुक्ति के लिए
  • उर्जावान बने रहने के लिए
  • सकारात्मक ऊर्जा के लिए
  • धन की प्राप्ति के लिए

घोड़ों की तस्वीर लगाते समय इन बातों का ध्यान रखें 


  • तस्वीर कटी-फटी नहीं होनी चाहिए। 
  • तस्वीर धुंधली नहीं होनी चाहिए। 
  • तस्वीर में घोड़ो की संख्या 7 होनी चाहिए, ना इससे कम और ना इससे ज्यादा। 
  • तस्वीर लगाते समय ध्यान रखें की घोड़े का चेहरा प्रसन्नचित मुद्रा में हो। 
  • घोड़ो की तस्वीर में घोड़े एक ही दिशा में देखने चाहिए ना की अलग-अलग दिशा में।

which bird or animal are lucky by vastu shastra


आजकल हमारी लाइफस्टाइल में जानवरों ने भी हिस्सा ले लिया. लोग अपने घरों में तरह-तरह के जानवर पालते है. कोई कुत्ता, तो कोई तोता, तो कोई कछुआ और तो कोई घाय-भैंस. सबसे ज्यादा शहरी लोग घरों में कुत्ते को पालते है. इसके अलावा ग्रामीण लोग घरों में गाय-भैंस को पालते है.

हम सब अपने-अपने शौक के अनुसार घरों में जानवर पालते है लेकिन क्या आपको पता है वास्तु के अनुसार कुछ जानवरों और पक्षियों को पालना अशुभ भी होता है और कुछ को पालना वास्तु के अनुसार बहुत शुभ माना जाता है. ऐसे जानवरों को घरों में रखने से आर्थिक, मानसिक और शारीरिक नुकसान नहीं होता और आप खुश रहते है.




कुछ पशु और पक्षी ऐसे होते है जिन्हें पालने से घर का माहौल खुशनुमा रहता है और घर में सुख-समृद्दी का वास होता है. आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे की वास्तु के अनुसार कौन-कौन से जानवरों और पक्षियों को घर में पालना चाहिए जिससे घर का माहौल सही रहता है और कोई परेशानी नहीं होती.

वास्तु के अनुसार इन जानवरों को घर में पालें

  • कुत्ता
कुत्ते को हिन्दू धर्म में भैरव का प्रतीक माना जाता है और ज्यादातर लोग वैसे भी घर में कुत्ते को पालते है. अगर आप भी घर में कुत्ते को पालते है और उसे रोजाना भोजन करवाते है तो आपको धन-दौलत की प्राप्ति होती है और आपके घर का माहौल सुखनुमा रहता है. यह घर से बुरी शक्तियों को खत्म करता है और घर में सकारात्मक माहौल बनाता है. कहा भी जाता है की काले कुत्ते को घर में पालने से संतान की प्राप्ति होती है.
  • तोता
तोते को वास्तु के अनुसार शुभ माना जाता है. जो लोग घरों में तोता पालते है उनके घर में कोई परेशानी नहीं आती,क्योंकि तोता आने वाली परेशानियों को पहले से ही भांप लेता है.
  • मेढक
अगर आप अपने घर में वास्तविक मेढक रखते है तो आपके घर में बीमारी नहीं आएगी और व्यापार में बढ़ोतरी होगी. रोजाना आप मेढक को देखकर ऑफिस या दूकान जाए. अगर आप वास्तविक मेढक को नहीं पाल सकते तो आप पीतल के मेढक को भी घर में रख सकते है.
  • कछुआ
वास्तु के अनुसार घर में कछुआ रखना बहुत शुभ माना जाता है. कछुआ भगवान लक्ष्मी का प्रतीक है और दश अवतारों में से एक है. घर में कछुआ रखने से वैभव की प्राप्ति होती हो धन-धान्य बना रहता है. आप चाहे तो ताम्बे का कछुआ भी घर में रख सकते है.
  • घोड़ा
घोड़े को एश्वर्य का प्रतीक माना जाता है. जो लोग घरों में घोड़ा पालते है उनके घर में एश्वर्य का वास होता है और उनका दिमाग तेजी से चलता है.
  • खरगोश
वास्तु के अनुसार घरों में खरगोश पालने से समृद्दी आती है और यह आपके बच्चों के लिए बहुत शुभ माना जाता है. घर में खरगोश पालने से आप तेजी से तरक्की करने लगते है.
  • कौवा
कौवे को पालना आसान नहीं है लेकिन अगर आप कौवे को भोजन कराते है तो आप पर शनि देव की कृपा बनी रहती है. कहा भी जाता है की अगर घर की मुंडेर पर कौवा बोलता है तो मेहमान आता है. काले कौवे को भोजन कराने से दुश्मनों का नाश होता है. अगर कौवा घर की उत्तर दिशा में बोलता है तो घर में लक्ष्मी का वास होता है.
  • गाय
शास्त्रों के अनुसार गाय में 33 करोड़ देवी-देवताओं का वास होता है और इसे पालना मतलब भगवान को खिलाने जैसा है. जिस स्थान पर गाय को पाला जाता है वह स्थान शुद्द हो जाता है और उस जगह से बुरी शक्तियाँ चली जाती है. गो-दान को भी ज्योतिष शास्त्र में सबसे महत्वपूर्ण दान माना गया है.  

सोमवार, 28 जनवरी 2019

दूकान की नजर उतारने के तरीके | दुकान का नजर उतारना | व्यापार वृद्धि के उपाय

Dukan Ke Liye Totke

आज के समय में किसी को भी नजर लगना आम बात है। बच्चे, जवान, बूढ़े और महिलाएं सभी को नजर लगती अहि। जब भी कोई छोटा बच्चा अचानक से बीमार हो जाता है तो उसके घर वाले कहते है की इसे नजर लगी है या किसी छोटे से बच्चे की बहुत से लोग तारीफ करने लगे तो भी माँ कहती है बच्चे को नजर लग सकती है। इस नजर से अपने बच्चे को बचाने के लिए माँ काला टीका लगाती है या काला धागा पहनाती है। 

dukan me barkat ke liye upay

Dukan me barkat ke liye upay

इसी तरह नजर सिर्फ लोगों को नहीं लगती बल्कि व्यापार में भी नजर लगती है। अक्सर किसी का व्यापार बहुत अच्छा चल रहा होता है और अचानक से उसकी बिक्री रुक जाती है तो लोग कहते है इसके व्यापार को किसी ने बाँध दिया यानी नजर लगा दी। एक व्यापारी के लिए उसकी दूकान उसकी रोजी-रोटी होती है और अगर उसे ही कोई नजर लगा देगा तो वो बर्बाद हो जायेगा।

अगर आप भी चाहते है की आपके व्यापार, दूकान आदि को किसी की बुरी नजर ना लगे और आपके व्यापार में तरक्की हो तो आप निचे दिए गए उपाय अपनाएं। इन उपायों को अपनाने से आपके दूकान को किसी की बुरी नजर नहीं लगेगी और आपके व्यापार में दिन-दुनी रात चौगुनी तरक्की होगी।

दूकान की नजर उतारने के टोटके

  • गोमती चक्र  
12 गोमती चक्र लेकर उसे लाल रंग के कपडे में बांधकर दूकान या ऑफिस के बाहर मुख्य दरवाजे पर लटका दे। इससे आपके दूकान में ग्राहकों की संख्या में इजाफा होगा और व्यापार में आने वाली समस्याएं दूर होगी।
  • निम्बू
रविवार के दिन 5 निम्बू काटकर दूकान में रख दे। इसके साथ एक मुट्ठी काली मिर्च और एक मुट्ठी पिली सरसों भी रख दे। अगर दिन जब आप दूकान खोले तो इन चीजों को ले जाकर किसी सुनसान स्थान पर रख दे। इन चीजों के साथ आपके दूकान से बुरी नजर भी चली जाएगी।
  • नारियल
एक एकाक्षी नारियल लेकर उसे दूकान में पूजा वाले स्थान पर रखे। रोजाना धुप-दीप दिखाकर इस नारियल की पूजा करे, इससे कारोबार में उन्नति होगी और आपका मन भी व्यापार में लगा रहेगा।
  • निम्बू और मिर्च की माला
शनिवार के दिन निम्बू और मिर्च की माला बनायें। इसके लिए आप काले और मोटे रंग के धागे का इस्तेमाल करें। इसे दूकान के बाहर लटका दे। इससे बुरी नजर अंदर प्रवेश नहीं कर पाएगी। यह टोटका आप घर के बाहर भी कर सकते है। इसे हर शनिवार बदलते रहे।
  • साबुत-फिटकरी
थोड़ा सा साबुत और फिटकरी लेकर जिस दूकान पर नजर लगी है उस पर 31 बार उतारे। फिर किसी चोराहे पर जाकर उसे उतर दिशा में फेंक दे और बिना पीछे देखें लौट आये। जब आप इस टोटके को फेंकने जाए तो अपने मुहं से कुछ ना बोले।
  • मंगलवार को हनुमानजी को सिंदूर चढ़ाएं
मंगलवार के दिन हनुमान जी के मंदिर जाए और उन्हें सिंदूर चढ़ाएं। हनुमानजी को संकटमोचक कहा जाता है इसलिए यह आपको और आपकी दूकान को बुरी नजर से बचायेंगे।
  • निम्बू और गंगाजल का कमाल
एक निम्बू ले और उसे अपनी पूरी दूकान के अंदर मुट्ठी में बंद करके घुमे। दूकान के एक-एक कोने में निम्बू को लेकर घुमे। याद रखे निम्बू मुट्ठी में बंद होना चाहिए। अब इसे बाहर जाकर चाकू से बीच में से काटकर गली के बाहर फेंक दे। अब गंगाजल को लेकर पूरी दूकान के अंदर छिड़क दे। इससे आपके दूकान की तांत्रिक बाधा भी दूर हो जायेगी और आपकी बिक्री भी बढ़ेगी।
  • शिवलिंग का जल
शिवलिंग पर चढ़े जल को लायें और ॐ नम: शिवाय का जाप करते हुए उसे पूरी दूकान में छिडके। इससे दूकान पर लगी बुरी नजर हट जायेगी।   

ये भी पढ़े 

शनिवार, 26 जनवरी 2019

उत्तर पूर्व मुखी घर का वास्तु | North East Facing House Vastu Plan

North East Facing House Plan 

दिशा का हमारी ज़िन्दगी में महत्वपूर्ण स्थान है चाहे वो सडक की दिशा हो या कैरियर की दिशा हो या घर की दिशा हो।  सही दिशा से हमे सुख, सफलता और अच्छा स्वास्थ्य मिलता है।  जब भी हम भविष्य की चिंता करते है तो हमारे लिए जरुरी हो जाता है सही दिशा चुनना ताकि हमारा भविष्य उज्जवल हो और खूबसूरत भविष्य की सम्भावना बढ़ जाए।  इसी तरह सड़क पर हम अगर सही दिशा पर नही गए तो हम हमारी मंजिल से भटक जाएंगे।  इसी तरह वास्तु के अनुसार घर होना भी अत्यंत आवश्यक है।  




वास्तु के अनुसार अगर घर की दिशा सही हो तो हमारे सफल होने की संभावनाएं कई गुना बढ़ जाती है।  उत्तर पूर्व दिशा इन्सान की जीवन में भाग्य, रचनात्मकता और समृद्धि लाती है।  ये दिशा चाँद की मानी जाती है और इसका घर पर कुछ असार पड़ता है जिस पर ध्यान देना जरुरी है।  वास्तु के अनुसार अगर उत्तर पूर्व दिशा का घर वास्तु के अनुसार नही होता तो ये दोष घर में तनाव पैदा कर सकता है।  

North east facing house plans as per vastu

नार्थ ईस्ट अर्थात उत्तर पूर्व दिशा का वास्तु दोष होने से क्या हो सकता है आइये जानते है।
  • नार्थ ईस्ट वास्तु दोष होने से घरवालो पर क़ानूनी मामलो की समस्या आ सकती है। इस दिशा की वजह से उस घर में रहने वाले लोगो में आत्मविश्वास ज्यादा हो जाता है और वो जोश में अपना नुक्सान कर बैठते हैं
  • उत्तर पूर्व वास्तु दोष वाले लोगो में स्वास्थ्य को लेकर परेशानी बनी रहती है खासकर फेफड़ो से सम्बंधित परेशानियाँ हो जाती है।
  • वास्तु के अनुसार घर के मुख दरवाजे के दोनों तरफ और बीच में पिरामिड लगा दे।
  • हिन्दू धर्म के अनुसार स्वस्तिक चिन्ह, ॐ चिन्ह और त्रिशूल में इतनी शक्तियां और तेज है कि उनके प्रभाव से बुरी शक्तियां दूर रहती है।  इसलिए इनमें से घर में कम से एक चीज तो होनी चाहिए। अगर आपका घर उत्तर पूर्व दिशा में है, पर उसमें वास्तु दोष है तो घर के दरवाजे पर स्वस्तिक चिन्ह, ॐ चिन्ह और त्रिशूल होने चाहिए। इससे आपके घर से नकारात्मक ऊर्जा दूर रहेगी।
  • साधू सन्यासियों के अनुसार व्रत रखना सिर्फ पेट या सेहत के लिए ही नही बल्कि वास्तु के अनुसार भी अच्छा होता है। हफ्ते में एक बार व्रत रखने से मन और शरीर हल्का रहता है और हम भी खुश रहते है। तो ऐसा हम क्यों न करे। हफ्ते में एक बार तो व्रत रखना ही चाहिए, खासकर तब जब आपका घर उत्तर पूर्व में हो और उसमें वास्तु दोष हो।
  • उत्तर पूर्व दिशा में बेडरूम तब सही होता है जब वो किसी नए जोड़े के लिए होता है लेकिन अगर बेडरूम बुजुर्ग के लिए हो तो बेडरूम दक्षिण पश्चिम दिशा में होना चाहिये।
  • जब भी उत्तर पूर्व दिशा वाला नया घर खरीद रही हो तो इस बात का ख़ास ध्यान रखे कि उस घर तक आने वाली रोड पश्चिम की तरफ हो। इससे घर में आर्थिक स्थिरता आती है।
  • जब आप घर खरीद रही हो तो देखे कि क्या दक्षिण और पश्चिम दिशा में जगह खाली तो नही, अगर है तो वो घर मत ले।अगर उत्तर पूर्व दिशा में जगह खाली हो तो बिना देर किए वो घर खरीद ले। वास्तु के अनुसार अगर उत्तर पूर्व दिशा में कोई जगह खाली होती है तो वो उस घर में रहने वालो के लिए शुभ होता है। ऐसे घर के लोग मान सम्मान में बढोतरी होती है, बच्चे अच्छी पढाई करते है और जीवन में सफलता पाते है।
  • उम्मीद है आपको पता चल गया होगा कि उत्तर पूर्व दिशा वाला घर अगर वास्तु के हिसाब से हो तो वो फायदेमंद होता है।
ये सब वास्तु दोष पढके डरिए मत। इस दोष का उपाय है। आप सभी जानते है हर परेशानी का हल जरुर होता है, इसका भी है। चलिए जानते है क्या है वो-
  • वास्तु के अनुसार घर के मुख दरवाजे के दोनों तरफ और बीच में पिरामिड लगा दे।
  • हिन्दू धर्म के अनुसार स्वस्तिक चिन्ह, ॐ चिन्ह और त्रिशूल में इतनी शक्तियां और तेज है कि उनके प्रभाव से बुरी शक्तियां दूर रहती है। इसलिए इनमें से घर में कम से एक चीज तो होनी चाहिए। अगर आपका घर उत्तर पूर्व दिशा में है, पर उसमें वास्तु दोष है तो घर के दरवाजे पर स्वस्तिक चिन्ह, ॐ चिन्ह और त्रिशूल होने चाहिए। इससे आपके घर से नकारात्मक ऊर्जा दूर रहेगी। 
  • साधू सन्यासियों के अनुसार व्रत रखना सिर्फ पेट या सेहत के लिए ही नही बल्कि वास्तु के अनुसार भी अच्छा होता है। हफ्ते में एक बार व्रत रखने से मन और शरीर हल्का रहता है और हम भी खुश रहते है।  तो ऐसा हम क्यों न करे। हफ्ते में एक बार तो व्रत रखना ही चाहिए, खासकर तब जब आपका घर उत्तर पूर्व में हो और उसमें वास्तु दोष हो।
  • उत्तर पूर्व दिशा में बेडरूम तब सही होता है जब वो किसी नए जोड़े के लिए होता है लेकिन अगर बेडरूम बुजुर्ग के लिए हो तो बेडरूम दक्षिण पश्चिम दिशा में होना चाहिये।
  • जब भी उत्तर पूर्व दिशा वाला नया घर खरीद रही हो तो इस बात का ख़ास ध्यान रखे कि उस घर तक आने वाली रोड पश्चिम की तरफ हो। इससे घर में आर्थिक स्थिरता आती है। 
  • जब आप घर खरीद रही हो तो देखे कि क्या दक्षिण और पश्चिम दिशा में जगह खाली तो नही, अगर है तो वो घर मत ले। अगर उत्तर पूर्व दिशा में जगह खाली हो तो बिना देर किए वो घर खरीद ले। वास्तु के अनुसार अगर उत्तर पूर्व दिशा में कोई जगह खाली होती है तो वो उस घर में रहने वालो के लिए शुभ होता है। ऐसे घर के लोग मान सम्मान में बढोतरी होती है, बच्चे अच्छी पढाई करते है और जीवन में सफलता पाते है। 
उम्मीद है आपको पता चल गया होगा कि उत्तर पूर्व दिशा वाला घर अगर वास्तु के हिसाब से हो तो वो फायदेमंद होता है।  

यह भी पढ़े 

कैसा हो East facing houses का वास्तु प्लान

East Facing House Vastu Plan

बहुत सारे लोग अपने लिए उत्तर दिशा वाले घर पर पसंद करते है। East Facing घर लोगो की पसंद में दूसरे नंबर में आता है।  कई लोगो का मानना कि जितने भी पूर्व दिशा वाले घर होते है वो सब समान होते है, परन्तु ऐसा नही है। वास्तु शास्त्र की माने तो पूर्व दिशा वाले घर शुभ और अशुभ दोनों हो सकते है।
इसका अर्थ ये है कि कोई भी घर सिर्फ दिशा की वजह से अच्छा या बुरा नही होता बल्कि उसके अंदर की चीजे जैसे कमरे, दरवाजे और अन्य जगह सब का वास्तु बेहद महत्वपूर्ण होता है, खासकर घर का मुख्य दरवाजा। ये कहना गलत है कि घर का शुभ और अशुभ होना उसकी सिर्फ दिशा पर निर्भर करता है। कुछ उत्तर दिशा वाले अशुभ हो सकते है और  दक्षिण दिशा वाले अच्छे।


East facing house vastu tips | पूर्व दिशा वाले घर


  • पूर्व दिशा वाले घर में भी वास्तु का ख़ास ध्यान रखना चाहिए।उत्तर पूर्व दिशा में बाथरूम नही होना चाहिए।
  • उत्तर पूर्व दिशा में बेडरूम नही होना चाहिए।
  • उत्तर पूर्व कोने में गटर भी नही होना चाहिये।
  • उत्तर पूर्व दिशा में सीढियाँ नही होनी चाहिए।
  • उत्तर पूर्व कोने में किचन भी नही होना चाहिए।
  • उत्तर और पूर्व दोनों दिशा में कोई बड़ा पेड़ भी नही होना चाहिए।
  • घर के उत्तर और उत्तर पूर्व दिशा में डस्टबिन नही रखना चाहिए।
  • घर में उत्तर और पूर्व दिशा वाली दीवार दक्षिण और पश्चिम दिशा वाली दीवार से पतली और छोटी होने चाहिए।
  • आपका किचन उत्तर पूर्व या दक्षिण पूर्व दिशा में होना चाहिए।
  • अगर आपका किचन दक्षिण पूर्व दिशा में है तो खाना बनाने के वक्त आपका चेहरा पूर्व की तरफ होना चाहिए और अगर आपका किचन उत्तर पश्चिम हो तो आपका मुंह पश्चिम की तरफ  होना चाहिए।     
  • उत्तर पूर्व की तरह पूजा का कमरा नही होना चाहिए।
  • उत्तर पूर्व दिशा में आपका ड्राइंग रूम होना चाहिए।
  • उत्तर पश्चिम दिशा में आपका मेहमानों का कमरा होना चाहिए।
  • उत्तर पश्चिम दिशा बेडरूम के लिए बेस्ट होती है।
  • जब भी घर बनवाएँ पूर्व और उत्तर की और थोड़ी जगह खाली छोड़े
  • घर के उत्तर पूर्व दिशा में अंडरग्राउंड वाटर टैंक बनाए ताकि आपके घर में कभी भी पानी की कमी न हो।
  • दक्षिण और पश्चिम तरफ की दीवारे ऊँची रखे।
  • आपके घर से जुडी वो जमीन न ख़रीदे जो आपके घर से दक्षिण या पश्चिम दिशा से जुड़ा है। आपको उत्तर दिशा से जुडी जमीन खरीदनी चाहिए,ऐसी जमीने आपके लिए शुभ होंगी।
  • उत्तर पूर्व दिशा में वास्तु कलश रखे, इससे घर में सुख शांति बनी रहेगी।
  • घर की उत्तर पूर्व दिशा में स्टडी क्रिस्टल रखे, ये आपके बच्चो की शिक्षा के लिए अच्छा रहेगा।
  • घर को पवित्र करने के लिए हफ्ते में एक बार माउंटेन साल्ट से जरुर साफ़ करे।
  • अगर सेप्टिक टैंक पूर्व दिशा में है तो इस वास्तु दोष को हटाने के लिए टैंक के चारो तरफ कुछ वास्तु पिरामिड स्ट्रिप्स लगा दे।
  • अगर आपका घर का पश्चिम दिशा में ढलाव है तो इस दोष को दूर करने के लिए पूर्व दिशा वाली दीवार पर ताम्बे का सूर्य यंत्र लगायें।

ईस्ट फेसिंग हाउस वास्तु 

अगर आपके घर में कोई वास्तु दोष है उसे इस तरह ठीक करे-
ये पोस्ट बुकमार्क करे और अगर आप घर खरीदने जा रही हो और वो पूर्व दिशा में हो तो इस आर्टिकल में लिखी बातो का ध्यान रखे।

यह भी पढ़े 





गुरुवार, 24 जनवरी 2019

वास्तु के अनुसार कौन कौन सी चीजे गिफ्ट में नही देनी चाहिए?


अगर किसी को हम प्यार करते है, जिसका हमे ख्याल रखना अच्छा लगता है तो उन्हें गिफ्ट देना भी हमे अच्छा लगता है। हम उन्हें गिफ्ट्स देकर खुश करना चाहते है, शायद ये दिखाने के लिए वो हमारे लिए कितने महत्वपूर्ण है। पर क्या आप जानते हैं ऐसी कुछ चीजे हैं जो गिफ्ट में नही देना चाहिए। आप ये लाइन पढके सोच में पढ़ गये होंगे, चिंता मत करिए। आज मैं आपको उन चीजो के बारे में बताउंगी। वास्तु के अनुसार कुछ गिफ्ट्स अपने साथ बुरा लक लेके आते है और कुछ अच्छा लक।इसलिए गिफ्ट को चुनते समय बहुत ध्यान रखना चाहिए क्योकि इस गिफ्ट का बुरा असर हो सकता है।



आपकी सुविधा लिए मैंने कुछ ऐसी ही कुछ गिफ्ट्स के बारे में बताने जा रही हूँ जो आपको किसी को गिफ्ट नही देना चाहिए-
  • तौलिये और नैपकिन
कुछ लोगो को घर पर काम आने वाली चीजे गिफ्ट में देना पसंद है। वो उन्हें नैपकिन्स और तौलिया देना पसंद रखते है, पर वास्तु के अनुसार ये चीजे गिफ्ट में नही देनी चाहिए क्योकि ये जिसको हम गिफ्ट देने वाले हैं उनके और गिफ्ट देने वाले के बीच मे नकारात्मकता आती है जो उनके बीच के रिश्ते के लिए अच्छा नही होता। पर अगर कोई आप इस तरह के गिफ्ट दे रहा है और आप उनको मना नही कर सकते तो उनको इसके बदले कॉइन जरुर दे।
  • पानी की कोई चीज
एक्वेरियम और वाटर की चीजे जैसे वाटर फाउंटेन आदि वास्तु की नजर में बहुत जरुरी और महत्वपूर्ण है। वास्तु शास्त्र में ऐसा कहा गया है कि किसी को भी पानी से बनी चीजे देने का मतलब होता है हम अपनी किस्मत और भविष्य किसी दूसरे को दे रहे है।गिफ्ट देने वाले को बहुत आर्थिक तंगी और नुक्सान झेलना पड़ता है।
  • भगवान की मूर्तियाँ
हिन्दू धर्म के अनुयानियो के घर पर एक कोना पूजा घर का भी होता है जहाँ पर पूजनीय देवी देवताओ की मूर्तियाँ और तस्वीरे रखी जाती है। भगवानो को शादी के दौरान और घर के मुहूर्त के दौरान जरुर याद किया जाता है पर एक बात ध्यान रखे कभी भी किसी को भगवान् की मूर्ति न दे। क्योकि अगर जिनको हम भगवान की मूर्ती किसी को गिफ्ट में देते है और उन्होंने भगवान् का ठीक से पूजन और ख्याल नही रखा तो घर में नकारात्मकता फैलती है।
  • स्टेशनरी से जुडी चीजे
वास्तु के अनुसार काम से जुडी चीजे देना भी अच्छा नही माना जाता। काम से जुडी स्टेशनरी चीजे कभी भी गिफ्ट में नही देना चाहिए। ये गिफ्ट किसी के काम में उन्नति की जगह नुक्सान करेगा और तरक्की को रोकेगा। जिसको आप गिफ्ट देने वाले है उनको उनके काम से जुडी कोई भी स्टेशनरी गिफ्ट में नही देना चाहिए।
  • तीखी घार वाली चीजे
एक और चीज जो आपको कभी भी किसी को गिफ्ट में नही देना चाहिए वो है तीखी चीजे। तीखी चीजे जैसे चाक़ू, तलवार या काटने वाली चीजे गिफ्ट में नही देनी चाहिए। ये तीखी धार वाली चीजे घर में नकारात्मकता लाती है जो आपके और गिफ्ट पाने वालो के रिश्तो के लिए अच्छा नही है
  • ओपल्स
उपल्स एक ऐसा जेम स्टोन है जिसे बदकिस्मत माना जाता है। ये सिर्फ उनको गिफ्ट में दिया जा सकता है जो अक्टूबर में पैदा  हुए है।
  • जूते- चप्पल
किसी को जूते- चप्पल गिफ्ट में देना अच्छा नही माना जाता। क्रिसमस के दिन शूज कभी भी गिफ्ट में न दे, क्योकि ऐसा माना जाता है जिनको हम गिफ्ट दे रही है वो हमारी ज़िन्दगी से दूर चला जाएगा।
  • बिल्लियाँ की शक्ल के गिफ्ट
कभी भी किसी को बिल्ली के शेप वाले गिफ्ट्स न दे, ये अच्छा नही माना जाता।

उम्मीद है आपको समझ आ गया होगा कि आपको किस किस तरह के गिफ्ट गिफ्ट करने चाहिए।


यह भी पढ़े 

बुधवार, 23 जनवरी 2019

Fitkari Ke Chamatkar । फिटकरी के टोटके इन हिंदी

फिटकरी के फायदे - फिटकरी से नुकसान | Fitkari Ke Fayde 

फिटकरी के गुण आपने बहुत सुने होंगे पर लेकिन आज हम जिस फिटकरी के चमत्कारी उपाय के बारे में बात करेंगे वो सुन कर आप चौंक जाएंगे। दोस्तों आज हम इस पोस्ट में बात करने वाले है फिटकरी से जुड़े कुछ कारगर टोटको और नुस्खो के बारे में। पर उससे पहले  जान ले फिटकरी क्या है ,फिटकरी कैसे बनती है। ऐसा कहा जाता है फिटकरी यानि मनुष्य के शरीर को जो करे फिट। फिटकरी दो प्रकार की होती है, एक लाल और एक सफ़ेद। फिटकरी का आकार एक पत्थर जैसा होता है। पहले ये एल्युनाइट होता है, जिसे फिर रीफाइन करके फिटकरी बनाया जाता है। जैसे आपने देखना होगा मर्द लोग दाडी उतारने के बाद फिटकरी लगाते है, ऐसा इसलिए क्योंकि फिटकरी खून का थक्का जमा सकती है इससे दाड़ी बनाने के दौरान होने वाले कट वगरह ठीक हो जाते है। फिटकरी के कई औषधीय गुण है । सिर्फ इतना ही नही फिटकरी का प्रयोग कुछ टोटको के लिए भी किया जाता है ।

fitkari ke totke in hindi

फिटकरी के उपाय - फिटकरी के टोटके | Fitkari Ke Upay 

  • अगर आपको बुरे बुरे सपने आते हैं और इस वजह से आप डरकर नीद से उठ जाते है तो आपको एक काले कपडे में फिटकरी डालके मंगलवार के दिन अपने सिरहाने रख लेना चाहिए। इसे आपको या बच्चो को नींद अच्छी आयेगी, बुरे सपने नही आएंगे और आपको किसी चीज का डर भी नही लगेगा। 
  • अगर आप अपनी दूकान में या उस जगह पर जहाँ पर आप काम करते है और वहां बरकत करना चाहते है तो आप एक काले कपडे में फिटकरी बांधकर दुकान के मुख्य दरवाजे पर टांग दे। 
  • घर के बाथरूम में एक कटोरी में फिटकरी या नमक डाले और रखे दे। एक महीने बाद इसमें नमक या फिटकरी बदल दे। फिटकरी घर की नकारात्मक ऊर्जा को अपने अन्दर खीच लेता है और बाथरूम में से नमी भी दूर कर देता है। 
  • कई लोगो के घर के पास खाली पड़ा प्लाट होता है या श्मशान होता है या कोई पुराना जर्जर मकान होता है तो ये शुभ नही माना जाता। अगर ऐसा घर आपका भी है तो एक कांच की प्लेट में फिटकरी के छोटे छोटे टुकड़े डाले और बालकनी या दरवाजे या खिड़की के नजदीक रख दे। हर महीने फिटकरी बदले। ऐसा करते रहने से वास्तु दोष दूर हो जाएगा। 
  • अगर आपके घर में किसी को नजर लगी हो तो फिटकरी का इस्तेमाल करे। पहले जिसे नजर लगी है उसे लेटा दे और फिटकरी को उसके पैरो के तलवों से लेकर ऊपर तक घुमाए और पांच या साथ बार घुमाके गैस पर रख कर जला दे। फिटकरी जल्दी जाएगी और नजर उतरती जाएगी। 
  • काम में तरक्की के लिए या नौकरी पाने के लिए आप नीले फूल करीबन ६, ५ फिटकरी के टुकड़े और एक बेल्ट जो आप कमर में बांधते है वो देवी माँ को चढ़ा दे। १० वे दिन फूल पानी में बहा दे, बेल्ट किसी भी कन्या को दान में दे दे और फिटकरी के टुकडो को अपने पास संभालकर रखे। 
  • जब भी किसी इंटरव्यू के लिए जाए इस फिटकरी के टुकड़े को अपने साथ ले जाए। अगर आप पर कर्जा चढ़ गया है तो आप पान के पत्ते में जरा सी फिटकरी और जरा सा सिन्दूर डाले और पीपल के पेड के तलो पर किसी बड़े से पत्थर से दबा दे। ऐसा आपको सिर्फ तीन बार बुधवार के दिन करना है। 
  • घर और दूकान में किसी कोने में फिटकरी का टुकड़ा रखने से वास्तु दोष समाप्त होता है। इससे नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव घटता है। 
  • घर में रोज पोछा तो लगता ही है तो उसमे नमक, फिटकरी और गौ मूत्र मिला दे। ऐसा करने से आपके घर पर नकारात्मक उर्जा कम होगी और घर से बीमारियाँ भी दूर भाग जाएगी। 

फिटकरी के इन टोटको को अपनाकर देखे , आप खुद भी कुछ फर्क महसूस करेंगे।

यह भी पढ़े 

रविवार, 20 जनवरी 2019

दक्षिण मुखी घर का वास्तु | Vastu for south facing house in hindi



क्या आप जानते हैं कि आपका घर किस दिशा में हैं? नही। चलिए हम आपकी मदद किए देते हैं। कोई घर किस दिशा में हैं ये हमे घर के मुख्य द्वार की दिशा से पता चल सकता है। इसके लिए आप अपने घर की तरफ मुंह करके खड़े हो जाइये और फिर अपने जेब से कम्पास निकाले और दिशा का पता लगाए। अगर कम्पास आपको बता रहा है कि आपके घर का मुख्य दरवाजा दक्षिण दिशा की और है तो इसका अर्थ है आपका घर दक्षिण मुखी है।



ऐसे कई लोग है जिन्हें लगता है दक्षिण दिशा की और मुख्य दरवाजा होना बुरा या अशुभ होता है। ये जानकारी अधूरी है, पर हाँ अगर हम अपने घर में सुख समृधि चाहते हैं तो घर का मुख्य दरवाजा सबसे उपयुक्त दिशा में स्थित होना चाहिए।
वास्तु के अनुसार आपका रहने का तरीका और आपके काम करना का तरीका होना चाहिए। अगर आपका दक्षिण मुखी घर वास्तु के अनुसार अनुकूल बना है तो आपको  आपको चिंता करने की कोई जरुरत नही है।  मान लीजिये आपके पास खूब सारा धन है और उसका प्रवाह भी बना हुआ है पर आपके घर में आपके घर वालो की तबियत ठीक नही रहेती तो ये संजोया हुआ धन उन बीमारियों के इलाज में ख़त्म हो जाएगा।
आपको जानकर ये तसल्ली मिलेगी कि  south facing house कई मायनों में फायदेमंद साबित होता है यानि वास्तु के हिसाब से अगर दक्षिण दिशा की और वाला घर हो तो कई बातो में अच्छा होता है। ऐसे घर में रहने वाले लोगो को व्यवसाय और करियर में सफलता मिलेगी। उनके बच्चों का पढाई में मन लगेगा और उनका एकाग्रता का स्तर भी सुधरेगा। इतना ही नही आपके घर में रहने वालो लोगो के बीच सम्बन्ध अच्छे बने रहेंगे।

South facing house से सम्बंधित कुछ जरुरी बाते

  • दक्षिण दिशा वाले घरो में इस बात का ख़ास ध्यान रखना चाहिए कि उस घर का दक्षिण भाग ऊँचा हो। इससे उस घर में रहने वाले लोगो की सेहत अच्छी बनी रहेगी और वो सुखी जीवन जीएंगे।
  • वास्तु के अनुसार दक्षिण दिशा में स्थान ऊंचा बनाके उस जगह पर बेकार का सामान रखना शुभ माना जाता है।
  • अगर आपके घर में सभी दरवाजे दक्षिण दिशा में हैं तो ये आपके लिए अच्छा है। ऐसे घरो में हमेशा धन का प्रवाह बना रहता है और संपन्नता आती है।
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार अगर दक्षिण हिस्से में जो कमरे हैं वो ऊँचे बनाए जाए तो उस घर में हमेशा ऐश्वर्य बना रहता है।
  • इस तरह के घर में पानी अगर उत्तर दिशा से होकर बाहर निकले तो ऐसा अच्छा और शुभ माना जाता है। ऐसे घर में रहने वाली महिलाओ की सेहत अच्छी रहती है।
  • अगर आपके घर में उत्तर दिशा की तरफ से निकासी नही हो सकती है तो आप इसकी व्यवस्था पूर्वी दिशा में कर दे। ऐसे घर में भी सब अच्छा होता है।
  • दक्षिण मुखी घर में अगर घर का दक्षिण हिस्सा नीचे है तो उस घर की महिलाओं का स्वास्थ्य ठीक नही रहता और कई बार ऐसे घर में कुछ दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएँ हो जाती है।
  • दक्षिण मुखी घरो में अगर दक्षिण दिशा में कोई कुआँ है तो ये शुभ नही माना जाता है।
  • जैसा आप जानते है दक्षिण दिशा को यम का वास वाली दिशा माना जाता है, इसलिए जब भी घर बनवाए थोड़ी सी जगह छोड़ दे।
  • दक्षिण मुखी घर की चारदीवार घर की दीवार से ऊँची होनी चाहिए।
  • अगर किसी वजह से आपके घर में दक्षिण दिशा का कोई वास्तु दोष है तो इसको दूर करने के लिए आप दक्षिण दिशा की दिवार को लाल रंग करवा दे। आप इस दिशा में लाल रंग का बल्ब भी जला सकते है, पर ऐसा आप रोज शाम के समय करे।
  • आप उस दिशा में आइना भी लगा सकते है। इससे घर में आने वाली नकारात्मक ऊर्जा पलटके वापिस चली जायेगी। आप इस दिशा में लाल रंग के खुशबूदार फूल लगाके भी वास्तु दोष दूर कर सकते है।
  • जब भी आप घर में बैठे दक्षिण की ओर आपकी पीठ हो और आपका मुंह उत्तर की और हो। ऐसा करने से आपको अपने पूर्वजो का आशीर्वाद मिलेगा।
  • दक्षिण दिशा की दीवारे मोटी बनाए और उसमें कोई खिड़की या वेंटीलेटर न बनाए।
  • इस दिशा में बड़े इंडोर प्लांट लगाए जैसे रबर प्लांट यां अम्ब्रेला ट्री लगाए वो भी बड़े से सीमेंट के गमलो में।
पर अगर वास्तु दोस्त कैसे हटाए 

यह भी पढ़े 





शुक्रवार, 18 जनवरी 2019

पश्चिम मुखी घर का वास्तु | West Facing House Vaastu In Hindi


 वास्तु के अनुसार दिशा के मामले में सबसे पहले उत्तर और दूसरे नंबर पर है पूर्व और तीसरे नंबर है पश्चिम। पश्चिम दिशा में घर इसलिए तीसरे नंबर पर है क्योकि लोगो को की ये गलत धारणा है की पश्चिम दिशा वाले घर वास्तु के हिसाब से अशुभ होते है।
बाकी दिशाओ जैसे पश्चिम दिशा वाले घर के निर्माण में भी वास्तु का ध्यान रखा जाना चाहिए जैसे घर का मुख दरवाजा, बाथरूम, किचन, खिड़कियाँ आदि तो इस दिशा वाले घरो में भी सुख शांति और खुशहाली बनी रहती है। ऐसे कई घर है जो पश्चिम दिशा में है पर फिर भी खुशहाल हैं।

West Facing House Benefits

west facing house


West Facing House Vastu - घर के लिए कुछ Vastu Tips


  • टी जंक्शन वाली जगह अगर घर के किसी भी दिशा में हो वो वास्तु के हिसाब से सही नही होता। टी फंक्शन वास्तु की दिशा में सबसे बड़ा वास्तु दोष होता है।
  • ऐसा प्लाट जहाँ पर रोड दक्षिण-पश्चिम दिशा की तरफ ख़त्म हो रही हो, नही खरीदनी चाहिए। ऐसा होना स्वास्थ्य के लिए अच्छा नही होता।
  • पश्चिम की तरफ ढलाव नही होना चाहिए क्योकि ऐसे घर में रहने वाले लोगो के बीच झगडे होते है। ऐसे घरो में चोरियों का डर भी रहता है।
  • पूर्वोत्तर क्षेत्र की ओर ढलान बनवाए ताकि आपके घर में विपरीत दिशा की ऊर्जा आ सके।
  • आपके घर की ऊर्जा को सही करने के लिए उत्तर पूर्व क्षेत्र की ओर बोरवेल या अंडरग्राउंड या टैंक बनवाए।
  • विभिन्न धातुओं के पिरामिडों के नीचे वास्तु रत्न स्थापित करके भूखंड को सक्रिय करें। इसे दिशाओं के अनुसार रखा जाना चाहिए।

West Entrance Vastu - West Facing Main Door Vastu

  •  मुख्य दरवाजे के आगे कोई पेड़ या खम्बा न हो।
  • पश्चिम दिशा वाले घर में लीड पिरामिड और उत्तर पश्चिम दिशा में ब्रास पिरामिड लगाए।
  • जब भी घर बनवाए वास्तु के हिसाब से बनवाए। शौचालय, बाथरूम, किचन, सीढियाँ, ड्राइंग रूम, पूजा कमरा सब वास्तु के हिसाब से होना चाहिए।
  • उत्तर और पूर्व दिशा में खिड़कियाँ बनवाए ताकि घर में ऊर्जा आती रहे।
  • घर के बीच में कोई खम्बा या सीढियाँ नही होनी चाहिए।
  • पश्चिम घर के प्रवेश द्वार के नीचे वाली जगह पर ब्रास डोर पिरामिड लगाये।
  • घर में शांतिपूर्ण ऊर्जा लाने के लिए घर की उत्तर पूर्व दिशा में पानी भरा सीधे हाथ वाला शंख रखे।
  • घर को माउंटेन नमक से साफ़ करके अपने घर को शुद्ध करे ताकि घर में अच्छी ताकतवर ऊर्जा आ सके।
  • अगर पश्चिम दिशा में ढलाव है तो पश्चिम दिशा वाली खिड़की पर वास्तु वाले विंड चिम लगाए।
  • घर की छत पश्चिम की तरफ हो तो छत की उल्टी दिशा में वास्तु का तांबे का तीर लगा दे।
  • घर के दक्षिण पश्चिम दिशा में बोरेवेल या वाटर पंप नही होना चाहिए।
  • ऐसा प्लाट या घर न ख़रीदे जो दक्षिण या दक्षिण पश्चिम दिशा में ज्यादा बड़ा हुआ हो।
  • कभी भी दक्षिण पश्चिम दिशा में किचन न हो इस बात का ध्यान रखे।

पश्चिम दिशा में घरो के वास्तु दोष दूर करने के कुछ उपाय 



गुरुवार, 17 जनवरी 2019

भूलकर भी न रखें भगवान की मूर्ति इस जगह जान लीजिए पूजा रूम का वास्तु शास्त्र इन हिंदी

Pooja room vastu

वास्तु के अनुसार हर घर मे pooja room होना चाहिए। घर मे pooja room बनाने से घर मे positive energy आती रहती है। इससे हमारे घर मे positivity, progress और peace बढ़ता है। यह room design करते वक़्त बड़ा ध्यान देना चाहिए  ताकि जब हम इस कमरे मे meditation करे तो सिर्फ positive energy ही attract करे। pooja room vastu सही ना होने की वजह से आप चाहे कितना भी meditation करे कभी भी charged feel नहीं करोगे।


Vastu for pooja room

पूजा रूम वास्तु टिप्स 

पूजा रूम वास्तु टिप्स 


घर मे pooja room, vastu for pooja room के अनुसार ही बनाना चाहिए। pooja room as per vastu बनाने के लिए कुछ नियमो का पालन करना जरूरी है :
  • pooja ghar हमेशा या तो north , east या फिर  northeast दिशा मे ही होना चाहिए। 
  • vastu for pooja room के according पूजा करते वक़्त आपका face east  या north दिशा की तरफ होना चाहिए। 
  • वास्तु के अनुसार there should be no god idols for pooja room पर अगर आप रखना चाहते है तो उसकी height ना तो 9 inche से ज्यादा और ना ही 2 inches से कम होनी चाहिए। 
  • The legs of idols to be kept in pooja room हमेशा पूजा करने वाले के chest level तक होना चाहिए चाहे वो इंसान खड़ा हो या बैठा हुआ हो। 
  • pooja room direction  के according  घर मे pooja room कभी भी bedroom मे या bathroom के पास नहीं होना चाहिए। 
  • pooja room मे  अंदर  जाने से पहले हमेशा अपने हाथ और पैर धोने चाहिए। 
  • ideal pooja room के design मे हमेशा roof के लिए pyramid जैसा structure होना चाहिए। ऐसा structure होने से घर मे ज्यादा से ज्यादा positive energy आती है। pooja rooms in flats मे भी ऐसे structure के pooja room आसानी से बनाये जा सकते है। 
  • pooja room according to vastu  घर मे ground floor पे होना चाहिए। pooja room  कभी भी  basement या ऊंचे floor पे नहीं होना चाहिए। 

 Vastu tips for pooja room in hindi


अगर आप नया घर बना रहे है तो Pooja ghar at home के लिए कुछ वास्तु tips पढ़ने जरूरी है :
  • नए घर मे pooja room बनाते वक़्त pooja room direction हमेशा सही रखना चाहिए।
  • pooja room door सही दिशा मे खुलना चाहिए। 
  • भगवान् की तस्वीर रखने की जगह और दिशा वास्तु के अनुसार होनी चाहिए। 
  • west facing घर मे god idols to be kept in pooja room हमेशा या तो north या  east wall की तरफ ही होनी चाहिए। इसके साथ यह और ध्यान रखे की इस  दिवार के पीछे शौचालय या रसोई ना हो। 
  • pooja room colour as per vastu सफ़ेद , हल्का  पीला  और हल्का नीला होते है pooja room colours.
  • pooja room in small flats  के according पूजा का सामान रखने के लिए जो जगह आप इस्तेमाल कर रहे है वो south या west दिशा मे होनी चाहिए। 
  • नए घर मे pooja room बनाते वक़्त northeast दिशा मे हमेशा खिड़की रखनी चाहिए ताकि सूरज की रौशनी अंदर आती रहे।
  • pooja room doors हमेशा high quality wood के 2 shutter door होने चाहिए।
  • pooja room के south east या eastern दिशा मे आप एक lamp stand लगा सकते है।  
  • vastu for pooja room के अनुसार आप pooja room के south east corner मे एक अग्निकुंड भी रख सकते है।  
  • सीढ़ियों के नीचे कभी भी pooja ghar नहीं बनाना चाहिए।

 Which direction should god face in pooja room?

भगवान् की तस्वीर इस तरीके से राखी होनी चाहिए की जब आप पूजा करो तो आपका face east दिशा की तरफ होना चाहिए। west दिशा दूसरी सबसे शुभ दिशा है।

How to arrange pooja room?

 वास्तु के अनुसार ऐसे करे अपना pooja room design :

  • Double door: pooja room के हमेशा दो दरजे होने चाहिए एक की जगह। पूजा करते वक़्त यह दोनों दरवाज़े बहार की तरफ खुलने चाहिए। ऐसे दरवाज़े जगह भी कम लेते है और मुसीबत भी नहीं बनते।
  • Elevated idols : भगवान की मूर्ति कभी भी जमीन पे नहीं रखनी चाहिए। pooja ghar vastu के अनुसार मूर्तियां हमेशा या तो किसी table पे  या   shelf पे या दिवार के सहारे लगनी चाहिए। 
  • No opposite idols : कभी भी भगवान की 2 मूर्तियां एक दूसरे के सामने नहीं रखनी चाहिए।  कभी भी एक दूसरे के सामने वाली दिवार पे भगवान की तस्वीर नहीं लगनी चाहिए। 
  • Lower ceiling : भगवान के ऊपर वाली ceiling कभी भी ज्यादा ऊँची नहीं होनी चाहिए। मूर्ति से थोड़ी सी ही ऊपर होनी चाहिए। false ceiling इसमें काम आ सकती है। 
  • Distance from wall : मूर्तियां रखते वक़्त कम से कम  दिवार से 1 inch की दुरी होनी चाहिए। 
  • Thresholds : thresholds के साथ बनाये गए pooja ghar मे चीटियां और कीड़े नहीं आते है।

यह भी पढ़े 

मंगलवार, 15 जनवरी 2019

वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार : ऐसे बनाएं घर के दरवाजे कभी नहीं होगी तिजोरी खाली

हम अपने घर में प्रवेश करते हैं हमारे घर के मुख्य दरवाजे से, इसलिए ऐसा कहा जाता है कि मुख्य दरवाजा आपकी और आपके परिवार की ज़िन्दगी का एक अहम् हिस्सा है। ये वो घर के दरवाजे है जहाँ से आपके घर पर नकारात्मक और सकारात्मक ऊर्जा आती | इसलिए वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार का वास्तु सही होना बेहद जरूरी है।  घर का मुख्य द्वार और वास्तु का बहुत नज़दीक का नाता है | वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का मुख्य द्वार सही बना हो तो बहुत से मुसीबत से निजात पाया जा सकता है |

वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार


घर का मेन गेट


वास्तु की माने तो अगर मुख्य दरवाजा आपका सही होगा तो आपके घर पर हमेशा माँ लक्ष्मी का वास रहेगा और सुख, शांति और समृधि हमेशा आपके साथ रहेगी। 
चलिए वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार से जुडी कुछ जरुरी बातें 


Main Door Vastu For Flats - Vastu color for main gate

  • घर के आगे अर्थात सामने कभी भी कोई खम्भा या कोई पेड़ नही होना चाहिए क्योकि इनकी छाया का घर पर पड़ना शुभ नही माना जाता । अगर आपके घर के बाहर कोई पेड़ है और उसकी छाया आपके घर पर पड़ रही हैं तो आप आपने मैं गेट पर शुभ चिन्ह स्वस्तिक को रोज बनाये और गेट के पास तुलसी का पौथा लगाये। ऐसा करने से घर में नकारात्मक ऊर्जा नही आ पाती। 
  • वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार कभी भी दक्षिण पश्चिम में न होकर उत्तर पूर्व दिशा में या दक्षिण पश्चिम दिशा में होना चाहिए। ऐसा कह जाता है ऐसे घरो में माँ लक्ष्मी की कृपा होती है। 
  • वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार के बाहर एक साफ़ और आयातकार पैरदान यानि डोरमैट रखा होना चाहिए। इससे आपके घर की कई समस्याए दूर हो जायेगी और घर में रहने वाले परिवार के सभी लोगो के बीच सम्बन्ध मजबूत होगा। 
  • ऐसा कहा जाता है कि किसी भी घर का मुख्य दरवाजा बाकि कमरों के दरवाजो से बड़ा होना चाहिए।
  • घर का मुख्य दरवाजा अगर दो पल्ले का होगा तो वो शुभ माना जाता है। पहले ज्यादातर घर के दरवाजे दो पल्ले के होते थे पर अब ज्यादातर एक पाले का दरवाजा ही दिखाई देता है। दो पल्ले का होना वास्तु के हिसाब से शुभ इसलिए माना जाता है क्योकि ऐसा होने से घर में कभी भी आर्थिक तंगी नही होती है। • इस बात का ध्यान रखे कि मुख्य दरवाजा खोलते या बंद करते समय आवाज न करता हो। 
  • मुख्य दरवाजा ऐसा होना चाहिए जिससे लोगो को घर में आने और जाने में कोई परेशानी न हो। 
  • दरवाजे पर आपके नाम की नेमप्लेट जरुर होनी चाहिए । इस बात का ध्यान रखे कि नेमप्लेट हमेशा साफ़ सुथरी हो। वास्तु के अनुसार ऐसा करने से घर में सुख, धन और सेहत बनी रहती है। 
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का मुख्य द्वार लकड़ी का बना हुआ होना चाहिए ऐसा घर के लिए शुभ होता है। जितना हो सके दरवाजे में लोहे या अन्य धातुओ का प्रयोग कम से कम हुआ हो। ऐसा इसलिए ताकि आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा बने रहे और माता लक्ष्मी आप पर खुशियाँ बरसाती रहे। 
  • मुख्य दरवाजा आयताकार आकर का होना चाहिए। 
  • वास्तु के अनुसार अगर मुख्य दरवाजा बाहर की और खुलता है तो घर में रहने वाले लोगो की सेहत ठीक नही रहती और उनके अनावश्यक खर्चे भी होते रहते है। 
  • घर का मुख्य दरवाजा कभी भी घर के कोने में नही होना चाहिए।

रविवार, 13 जनवरी 2019

आप भी कर ले ये ग्राहक बढाने के टोटके आने लगेगी दुकान में बरकत

ग्राहक बढाने के टोटके

क्या आप भी उन लोगो में से हैं जिनकी दुकान पर ग्राहकी कम है या आपके सामानों की बिक्री बहुत कम होती है। बिक्री कम होने की वजह से पैसो की तंगी हो जाती है और महंगाई के इस जमाने में लोग जरूरी खर्च भी पूरे नही कर पा रहे। दोस्तों आज हम कुछ ऐसे नियमो और कुछ दुकान के टोटके के बारे में बात करने वाले हैं जिसको अपनाकर आप अपने दुकान में बिक्री बड़ा सकते है। चलिए जानते हैं व्यापार में सफलता के उपाय क्या हैं। 
दोस्तों एक अछि कमाऊ दुकान के लिए जरूरी है कि दुकान का वास्तु ठीक हो और दुकान चलाने वाले की दुकान में बैठने की दिशा। परन्तु अक्सर दुकान के लिए वास्तु टिप्स कर लेने के बावजूद भी दुकान नहीं चलती चलिए आज हम आपको कुछ दुकान पर ग्राहक बढ़ाने के उपाय बताते है जो की व्यापार वृद्धि में मदद करेंगे अगर आप भी ये व्यापार वृद्धि के उपाय कर लेंगे तो जरूर हे माता लक्ष्मी की कृपा आप पर बानी रहेगी 

दुकान पर ग्राहक बढ़ाने के उपाय

dukan chalane ke upay

Dukan me bikri badhane ke upay 

  • सबसे पहले टोटका है जब भी आप कोई नया काम शुरू करे या नयी दुकान शुरू करे तब चांदी की एक कटोरी में धनियाँ डाले और उस पर गणेश जी और माँ लक्ष्मी की चांदी की मूर्ति स्थापित करे। इस कटोरी को दुकान की पूर्व दिशा मे स्थापित करे।
  • रोज सुबह समय पर दुकान खोले और भगवान् के आगे अगरबत्ती जलाए।
  • दुकान में मिटटी के 4 बर्तन रखे और उसमें तिल, जौ,पीली सरसों और साबुत हरे मूंग डाले। ये दुकान में किसी भी जगह पर रख दे। इन बर्तनों को एक साल के बाद बहते पानी में विसर्जित कर दे। ग्राहक बढाने के टोटके से ग्राहक आपकी दुकान की ओर आकर्षित होगे और आपको फायदा होने लगेगा।

  • काला धागा ले और उसमें एक नीम्बू और सात हरी मिर्च पिरोए और कील में मंगलवार या शनिवार को टांग दे। नीम्बू में कोई दाग नही होना चाहिए। एक बात का ख़ास ध्यान रखना है कि ये नीम्बू मिर्ची पत्नी या बेटी के हाथो से ही बनवाए। बाज़ार से लाया हुआ नीम्बू मिर्ची काम नही आता है।
  • दुकान में कुबेर यंत्र विधि विधान से स्थापित करे।
  • दुकान में श्रीयंत्र विधि विधान से स्थापित करे।
  • अगर आप ऐसा महसूस कर रहे हैं कि किसी ने आपकी दुकान पर जादू टोटका किया है तो इसके लिए एक लाल धागे में 8 साबुत डंडीदार पान के पत्ते और 5 पीपल के पत्ते बांधे और इसे शनिवार को अपनी दुकान की पूर्व दिशा में बांध दे। इससे किसी का किया तंत्र टूट जाएगा और आपको लाभ होने लगेगा।  
  • पान के पत्तो में शम्मी के पेड़ की थोड़ी सी लकड़ी लपेटकर अपने गल्ले में रखे। इससे भी किसी का किया हुआ तंत्र ख़त्म हो जाएगा।
  • जब भी रविवार को यानि सन्डे को दुकान जाए पान खाकर जाए, अगर पान नही खाते हैं तो एक पत्ता अपने साथ दुकान ले जाए और शाम को मंदिर में चदा दे।
  • सोमवार के दिन जब भी दुकान के लिए जाए अपना चेहरा दुकान में देख के फिर जाए।
  • मंगलवार के दिन जब भी दुकान के लिए निकले गुड़ खाके निकले।
  • बुधवार के दिन जब भी दुकान के लिए निकले धनिया चबाते हुए निकले।
  • वृहस्पतिवार के दिन जीरा खाए और फिर दुकान के लिए निकले।
  • शुक्रवार के दिन दही खाए और फिर निकले दुकान के लिए ।
  • शनिवार के दिन अदरक खाए और फिर दुकान के लिए निकले, ये आपके लिए शुभ होगा
  • जब भी दुकान में कदम रखे अपना दाहिना पैर पहले रखे, यानि राईट वाला पैर और जब भी दुकान से निकले बायाँ पैर यानि लेफ्ट पैर पहले बाहर रखे।
  • सफ़ेद सरसों को अपनी दुकान के द्वार पर रखे, इससे बिक्री बढ़ने लगेगी।
  • दुकान के दरवाजे पर हल्दी से स्वस्तिक बनाए और उस पर जरा सा गुड और जरा सी चने की दाल रखे, एक सप्ताह के बाद ये दाल और गुड मंदिर में चढ़ा दे। 

ऊपर बताए टोटको और ghar  me laxmi aane ke upaay को पूरी श्रदा से अपनाए और अपनी दुकान में बिक्री बढाए। dukan me barkat ke liye upay में अगर आपके कुछ सुझाव है तो हमें ज़रूर बताए 


अच्छी सेहत के लिए वास्तु | Best Vastu Tips For Health And Wealth

Health is wealth वाली कहावत तो हम सबने सुना ही है।  एक अच्छे जीवन के लिए आपका स्वस्थ होना जरूरी है। बिना अच्छे स्वाथ्य के आप कुछ भी नहीं पा सकते। हमारी सेहत बहुत सारे चीज़ो से affect होती है , चाहे वो घर का माहौल हो ,आस पास वाले लोग या फिर आपके काम करने की जगह। vastu shastra for health इन सभी मुसीबतों का निवारण बताता है। जिस तरह से हम vastu for house देखते है उसी तरह से अपनी अछि सेहत के लिए वास्तु भी बहोत जरुरी है |

Vastu tips for health in hindi 

Vastu tips for health in hindi  

  • Vastu for health के अनुसार सोते वक़्त आपका सर हमेशा दक्षिण दिशा की तरफ होना चाहिए।
  • Stairs vastu effect on health : आपके घर की सीढियों के वास्तु भी आपके स्वस्थ्य पर असर करता है। घर के center मे कभी भी सीढ़ियां नहीं होनी चाहिए। अगर ऐसा होता है तो आपके सेहत पे काफी serious effects पढ़ते है।
  • घर के center मे कभी भी ज्यादा furniture नहीं रखना चाहिए। ज्यादा furniture  घर मे energy का flow रोकता है। energy का ठहराव स्वस्थ्य पर असर करता है। 
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के center मे overhead beams नहीं होनी चाहिए। 
  • Fire elements vastu effect on health : घर मे fire elements का वास्तु सही होनी चाहिए। 
  • अगर आपका घर south facing है या घर मे slope इस दिशा मे है या घर का generator north east दिशा मे है तो घर मे रहनेवालो के health पर बुरा असर पढ़ सकता है।
  • घर के ब्रम्ह्मास्थान पर Reiki crystals रखना शुभ माना जाता है। इसको रखने से घर मे positive energy आती है। रेकी क्रिस्टल्स आप ऑनलाइन भी खरीद सकते है | 


Vastu Shastra for good health and wealth

एक अच्छा घर तब  ही बनता है जब उसमे रहने वाले लोगो का स्वास्थ्य  भी ठीक हो  इसीलिए vastu for health जानना जरूरी है। यहाँ जानिए कुछ vastu tips for health and wealth

Vastu tips for Good health and Wealth

  • आपके घर का bathroom vastu एक दम सही होना चाहिए। घर मे bathroom की location से घर मे रहने वाले लोगों के स्वस्थ पर असर पढ़ता है। 
  • अगर आपके घर की रसोई अपने घर के bathroom के एक दम सामने है तो आपको हमेशा अपने bathroom का दरवाज़ा बंद रखना चाहिए। 
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार आपके घर मे bedroom और bed की जगह सही होनी चाहिए। गलत तरीके मे सोने की वजह से आपके health पर बुरा असर पढता है। 
  • घर के center मे ज्यादा pillars नहीं होने चाहिए। 
  • घर के main gate और boundary wall की height एक दम same होनी चाहिए।  

Vastu remedies for health problems

vastu shastra for house
Best Vastu Tips For Wealth And Happiness
  • हनुमान जी को स्वस्थ्य का स्वामी माना जाता है।  इसीलिए आपके घर मे हनुमान जी की तस्वीर हमेशा होनी चाहिए ताकि घर मे रहनेवालो की सेहत बनी रहे।
  • अगर घर मे कोई बीमार है तो उसके कमरे मे Candles जलानी चाहिए। यह candle north east दिशा मे होनी चाहिए। 
  • घर मे जितने भी पानी के नल है उनका ध्यान रखना चाहिए की वो लगातार टपके नहीं। 
  • सीढ़ियों के नीचे की खाली जगह का कभी भी store room या  bathroom की तरह इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। 
  • अगर आपके घर मे bathroom north east दिशा मे है तो उसको वहां से हटा दीजिये।