सोमवार, 31 दिसंबर 2018

कैसी हो वास्तु के अनुसार रसोई - kitchen vastu tips in hindi

Vastu for kitchen in hindi

आप सभी जानते होंगे कि महिलाओ का ज्यादा से ज्यादा वक्त घर के एक हिस्से में सबसे ज्यादा बीतता है, और वो जगह है किचन यानि रसोईघर। इसलिए घर का ये काफी अहम् हिस्सा होता है। रसोई के लिए भी किचन वास्तु होता है, जिस पर ध्यान देना बेहद जरुरी होता है। रसोई घर के हर हिस्से के बारे में वास्तु जरुरी होता है, जैसे चूल्हा (chulha) रखने का स्थान, खिड़की, दरवाजा आदि की दिशा और इन छोटी छोटी कई बातो पर ध्यान देना किचन वास्तु के लिए जरुरी होता है।
चलिए जानते हैं उन ख़ास और जरुरी किचन वास्तु बातो के बारे में -


वास्तु के अनुसार रसोई का रंग


  • वास्तु के अनुसार किचन की दीवारों पर कभी भी आसमानी रंग या नीला रंग का इस्तेमाल न करे।

वास्तु के हिसाब से रसोई की दिशा


  • वास्तु शास्त्र के अनुसार किचन हमेशा 'आग्नेय कोण'में होना चाहिए,'आग्नेय कोण'अर्थात दक्षिण पूर्व दिशा। अगर इस दिशा में रसोईघर नही बन सकता है तो आप उत्तर पश्चिम दिशा में बनवा सकते है, ये वैकल्पिक स्थान होता है।
  • कुछ ऐसी दिशाएं होती है जिस दिशा में रसोईघर बिलकुल नही होनी चाहिए जैसे उत्तर, दक्षिण पश्चिम और उत्तर पूर्व दिशा। अगर आपकी रसोईघर दक्षिण दिशा में बनी हुई है तो आप अपना चूल्हा (chulha) पूर्व दिशा में रखे।

ये भी पढ़े अगर रंगवा लेंगे रसोई में ये रंग, तो भर जाएंगे जिंदगी में रंग

Vastu shastra tips in hindi for kitchen



  • वास्तु के अनुसार खाना बनाने में इस्तेमाल किया जाने वाला प्लेटफॉर्म कभी भी उत्तर या पश्चिम दिशा की दीवारों से जुड़ा हुआ नही होना चाहिए।
  • किचन की दीवारों पर कभी भी काला ग्रेनाईट इस्तेमाल न करे, इसके लिए सफेद पत्थर या हरा ग्रेनाईट या महरून ग्रेनाईट इस्तेमाल में लाये।

Kitchen Vastu In Hindi



  • Vastu के अनुसार जब भी खाना बनाए अपना मुंह पूर्व दिशा की और रखे।
  • अगर किचन में फ्रिज हैं तो इसे उत्तर पश्चिम दिशा में रखे।
  • किचन की खिड़की के नीचे चूल्हा नही हो, इस बात का ख़ास ख्याल रखे।
  • जिस जगह पर चूल्हा रखा है उसके ऊपर कभी भी शेल्फ न बनाएं।

Vastu ke Anusar Kitchen


  • अपने अनाज को हमेशा रसोई की दक्षिण पश्चिम दिशा में रखे।
  • कभी भी रसोई के बीचोबीच चूल्हा अर्थात गैस न रखे।
  • किचन का दरवाजा उत्तर दिशा या उत्तर पूर्व दिशा में होना चाहिए।
  • यदि किचन की कम से कम एक खिड़की पूर्व दिशा में तो वास्तु के हिसाब से इसे काफी उत्तम माना जाता है।

Vastu shastra for kitchen in hindi



  • वास्तु के अनुसार रसोई में डाइनिंग टेबल नही रखना चाहिए पर अगर रखना जरुरी है तो इसे पश्चिम दिशा या उत्तर पश्चिम दिशा में ही रखे।
  • चूल्हा और सिलेंडर किचन की दक्षिण पूर्व दिशा में रखे।
  • अगर आपके पास माइक्रोवेव है तो इसे दक्षिण पूर्व दिशा में रखे।

Vastu shastra for kitchen sink


  • इस बात का ख़ास ध्यान रखे की आपके किचन का नल सही काम कर रहा हो, अगर नल लीक कर रहा हो तो उसकी तुरंत मरमत करवाएं।
  • किचन में पीने का पानी उत्तर दिशा की और रखे।
  • बर्तन धोने वाला वाश बेसिन सिंक उत्तर पश्चिम दिशा में होना चाहिए।
  • चूल्हा और बर्तन धोने का सिंक एक ही प्लेटफॉर्म में नही होना चाहिए।

वास्तु कंपास


वास्तु कंपास हमेशा 8 चार्ट्स के साथ आता है। यह होते है घर के लिए ,लिविंग रूम के लिए , शयन कक्ष के लिए, रसोई के लिए, दुकान के लिए, काम करने की जगह के लिए ,फैक्ट्री और डिस्पेंसरी के लिए। वास्तु शास्त्र के मदद से हम वास्तु कंपास को तरीके से इस्तेमाल कर सकते है। कम्पास से घर की दिशा कैसे देखे ।

How to check direction of house with Compass



  • सबसे पहले तो रसोई के लिए दिया हुआ चार्ट लीजिये क्यूंकि वास्तु कंपास का हर चार्ट अलग पहलू बताता है।
  • चार्ट को यन्त्र के बीच मे रखे ताकि बीच वाली पिन चार्ट के बीच मे से बाहर निकले।
  • वास्तु कंपास मे जो दिशा बताने वाली सुई आती है उसको चार्ट के ऊपर रखे।
  • दिशा बताने वाली सुई को घूमने दे बिना रुकावट। कुछ समय बाद सुई घूमना बंद करदेगी।
  • सही दिशा पहचाने के लिए सुई पे जो मार्क्स होते है उनको ध्यान से पढ़िए।
  • अपनी रसोई के दिशा फिर आपसे सुई की बताई हुई दिशा से जांच करे और जहाँ जरूरत हो वह बदलाव करे।
  • वास्तु कम्पास आप ऑनलाइन भी खरीद सकते है इसका मूल्य आप नीचे देखें



अपने घर के इस अहम् हिस्से को बनवाने के समय ऊपर दिए सभी kitchen vastu tips पर जरुर ध्यान दे ताकि आपके घर में खुशहाली आए और वास्तु दोष की वजह से किसी प्रकार की दिक्कत न आये।

ये भी पढ़े


0 comments: